शेर और चूहे की कहानी।

शेर और चूहे की कहानी - Short Story For Children In Hindi

Lion and Mouse Short Story For Children In Hindi – एक समय की बात है एक शेर था जो की जंगल में राज करता था एक दिन खाना खाने के बाद वह एक जंगल में सो गया। एक छोटे से चूहे ने उसे देखा और सोचा की इसके साथ खेलने में मजा आएगा।

वह सोते हुए शेर के ऊपर निचे दौड़ने लगा, वह उसके पूछ के ऊपर दौड़ने लगा और पूछ से फिसलते हुए निचे आया।

शेर गुस्से में दहाड़ते हुए उठा और उसने अपने बाये पंजे से चूहे को पकड़ लिया चूहा बहुत छटपटाया पर भाग ना सका शेर ने उसे खाने के लिए अपने बड़े दाँत निकाले चूहा बहुत डर गया था।

चूहा बोला “हे जंगल के राजा मुझे माफ़ कर दो मै अब से ऐसा कभी नहीं करूँगा मै बहुत डर गया हूँ मै ये कभी नहीं भूलूंगा और मै सायद आपकी कभी मदद भी कर सकूंगा”

चूहा के द्वारा मदद की बात सुनकर शेर हसने लगा और उसने अपना पंजा खोला और उसे जाने दिया।

चूहा बोला “मै आपका ये उपकार कभी नहीं भूलूंगा” शेर बोला “तुम बहुत भाग्यसाली हो मैंने अभी ही खाना खाया है अब जाओ और कभी भी मेरे साथ पंगा मत लेना वरना मै तुम्हे भोजन बना लूंगा”

कुछ दिनों बाद शेर जंगल में घूम रहा था और वही शिकारियों ने शेर को पकड़ने के लिए जाल बिछाया था। शिकारी पेड़ के पीछे चिप गए इस इंतजार में की शेर जाल के पास आ जाये।

जैसे ही शेर जाल के पास आया शिकारी ने रस्सी खींची और जाल में शेर को पकड़ लिया। शेर ने जोर से दहाड़ने की कोशिश की और भागने की पर शिकारियों ने जाल कस लिया था।

वह शेर को ले जाने के लिए गाड़ी लेने के लिए गए और यहाँ शेर जोर से दहाड़ रहा था चूहे सहित सभी जानवरो ने उसकी दहाड़ सुनी तभी चूहे ने कहा की “राजा मुश्किल में है हमें उनकी मदद करनी होगी जल्द ही वह शेर के पास पहुंच गया और बोला घबड़ाईये मत राजा जी मै आपको मुक्त कराऊंगा।

वह जाल के ऊपर चढ़ गया और अपने तेज़ दातो से रस्सी को कुतरने लगा और आखिर में उसने शेर को जाल से छुड़ा लिया। शेर को पता चला की एक छोटा सा चूहा भी बहुत मदद कर सकता है शेर ने चूहे को धन्यवाद दिया और बोला तुमने राजा की जान बचायी है तुम इसी जंगल में मेरे साथ रहो और मेरे ऊपर खेल-कूद भी सकते हो।

चूहा शेर के ऊपर उछलने और कूदने लगा कुछ देर बाद शिकार शेर को लेने के लिए बड़ी गाड़ी ले कर आये शेर और चूहे ने उनकी तरफ देखा और उनकी तरफ भागने लगे उन्हें देखकर शिकारी डर गए और वह गांव की तरफ वापस भाग गए और इसी तरह शेर और चूहा हमेशा के लिए दोस्त बन गए।


Read Also :-

Leave a Comment